Wednesday, 28 September 2016

निगम विद्यालयों में काम करने वाले एनजीओ टीच फॉर इंडिया (TFI) की शिकायत

yksd f'k{kd eap
ch&8] uhydaB vikVZesaV&1] lar uxj] cqjkM+h] fnYyh 84
lEidZ% lokshikshakmanch@gmail.com, 9968716544] 9911612445
CykWx% lokshikshakmanch.blogspot.in
Øe lañ 01/ लोशिमं/ सितम्बर / 2016                                        fnukad%19 सितम्बर,2016                                                                                                                                    

प्रति,
अध्यक्ष, शिक्षा समिति
उत्तरी दिल्ली नगर निगम,
दिल्ली
विषय : निगम विद्यालयों में काम करने वाले एनजीओ टीच फॉर इंडिया (TFI) की शिकायत I

महोदय/महोदया, 

लोक शिक्षक मंच शिक्षकों, विद्यार्थियों और शिक्षा के क्षेत्र में सोचने-विचारने/काम करने वाले कार्यकर्ताओं का एक समूह है जो कि सार्वजानिक शिक्षा व्यवस्था के मजबूतीकरण के लिए प्रतिबद्ध हैI हम लोक शिक्षक मंच की ओर से आपके समक्ष निगम स्कूलों में काम कर रहे एक एनजीओ टीच फॉर इंडिया (TFI) के बारे में कुछ शिकायतें रखना चाहते हैंI इन शिकायतों का आधार निगम में पढ़ा रहे शिक्षकों के प्रत्यक्ष अनुभव हैंI

1 ऐसा देखने में आया है कि TFI के वालंटियर्स स्कूलों में बिना निगम की अनुमति के भी हस्तक्षेप करते रहते हैंI कई बार बीते सत्र के अनुमति पत्र की बुनियाद पर ही वे अगले सत्र में भी अपनी दखलंदाज़ी जारी रखते हैंI यह बर्ताव निगम व हमारे स्कूलों की प्रतिष्ठा को धूमिल करता हैI

2 TFI की तरफ़ से स्कूलों में न केवल तयशुदा वालंटियर्स भेजे जाते हैं, बल्कि अक्सर इनके साथ कई अनाधिकृत व्यक्ति भी स्कूलों में आकर दखल देते हैं जिससे स्कूलों की व्यवस्था पर प्रतिकूल असर पड़ता हैI इस आवाजाही से स्कूलों का माहौल असुरक्षित हो जाता है तथा निगम स्कूलों की ‘चलताऊ’ छवि प्रेषित होती हैI

3 TFI के वालंटियर्स को निगम के नियमित शिक्षकों के सहायक के रूप में भेजा जाता है, जबकि अक्सर वो विद्यार्थियों व कक्षा का मनमाना फेरबदल करने तथा पूरी कक्षा का ही संचालन अपने हाथों में लेने का दबाव डालते हैं जिससे कि वे अपने दानदाताओं के समक्ष कार्यक्रम की सफलता प्रदर्शित कर सकेंI इससे एक तरफ़ प्रभावित कक्षाओं में निगम की अधिकृत पाठ्यचर्या के साथ न्याय नहीं हो पाता तो दूसरी तरफ़ नियमित शिक्षक की अस्मिता पर कुठाराघात भी होता हैI
TFI के इस स्वार्थपूर्ण हस्तक्षेप से विद्यार्थियों को अप्रशिक्षित व्यक्तियों से पढ़ना पड़ रहा (जोकि शिक्षा अधिकार कानून, 2009 का उल्लंघन है), उनका कोर्स पूरा नहीं हो रहा है और निगम के नियमित-प्रशिक्षित शिक्षकों का मनोबल भी टूट रहा हैI

हम आपसे अपील करते हैं कि

·         TFI को निगम शिक्षा विभाग से ब्लैकलिस्ट किया जाए I
·         सभी एनजीओ को निगम के स्कूलों से बाहर रखा जाए I


सदस्य                         सदस्य                                सदस्य
संयोजक समिति                 संयोजक समिति                        संयोजक समिति
लोक शिक्षक मंच                लोक शिक्षक मंच                        लोक शिक्षक मंच




प्रतिलिपि :

अध्यक्ष, नगर निगम शिक्षक संघ

अध्यक्ष, अखिल दिल्ली प्राथमिक शिक्षक संघ 

No comments:

Post a Comment